Friday, November 1, 2013

पञ्च दिवसीय दीपोत्सव की हार्दिक शुभकामनायें।



भगवान् धन्वन्तरी सभी को आरोग्य-धन प्रदान करें  



नर्क चतुर्दशी की शुभकामनाएँ 
आज के दिन ही भगवान श्री कृष्ण ने अत्याचारी और दुराचारी दु्र्दान्त असुर नरकासुर का वध किया था और सोलह हजार एक सौ कन्याओं को नरकासुर के बंदी गृह से मुक्त कर उन्हें सम्मान प्रदान किया था।
आइये नारी जाति  के सम्मान का संकल्प लेकर हम श्रीकृष्ण के अनुयायी होने का प्रमाण दें।  








दीपोत्सव के बहाने ईश्वर हम सभी के ह्रदय में प्रेम का दीप जलने में सहायक हो 



अन्नकूट पर यही कामना है की विश्वंभर भगवान् विश्व भर में अन्न के कूट (पर्वत) खड़े रखें कोई भूखा ना रहें . 






 भाई बहन के जैसा निश्चल प्रेम सभी के मन में व्याप्त हो .



मैंने पटाखे चलाना छोड़ दिया है. परिवार के अन्य सदस्यों (बच्चों) को साल-दर-साल अपने साथ जोड़ रहा हूँ . आप कब जोड़ रहें है अपने आपको पर्यावरण की रक्षा के निमित्त !
"आइये प्रदुषण मुक्त दिवाली मनाएं, पटाखे ना चलायें" 

No comments:

Post a Comment

जब आपके विचार जानने के लिए टिपण्णी बॉक्स रखा है, तो मैं कौन होता हूँ आपको रोकने और आपके लिखे को मिटाने वाला !!!!! ................ खूब जी भर कर पोस्टों से सहमती,असहमति टिपियायिये :)