Tuesday, April 12, 2011

भये प्रगट कृपाला दीनदयाला --- श्रीराम नवमी की हार्दिक बधाई

जय श्री राम !!

भये प्रगट कृपाला दीनदयाला कौसल्या हितकारी .
हरषित महतारी मुनि मन हारी अद्भुत रूप बिचारी ..

लोचन अभिरामा तनु घनस्यामा निज आयुध भुज चारी .
भूषन वनमाला नयन बिसाला सोभासिन्धु खरारी ..

कह दुइ कर जोरी अस्तुति तोरी केहि बिधि करौं अनंता .
माया गुन ग्यानातीत अमाना वेद पुरान भनंता ..

करुना सुख सागर सब गुन आगर जेहि गावहिं श्रुति संता .
सो मम हित लागी जन अनुरागी भयौ प्रकट श्रीकंता ..

ब्रह्मांड निकाया निर्मित माया रोम रोम प्रति बेद कहै .
मम उर सो बासी यह उपहासी सुनत धीर मति थिर न रहै ..

उपजा जब ग्याना प्रभु मुसुकाना चरित बहुत बिधि कीन्ह चहै .
कहि कथा सुहाई मातु बुझाई जेहि प्रकार सुत प्रेम लहै ..

माता पुनि बोली सो मति डोली तजहु तात यह रूपा .
कीजे सिसुलीला अति प्रियसीला यह सुख परम अनूपा ..

सुनि बचन सुजाना रोदन ठाना होइ बालक सुरभूपा .
यह चरित जे गावहि हरिपद पावहि ते न परहिं भवकूपा ..

बिप्र धेनु सुर संत हित लीन्ह मनुज अवतार .
निज इच्छा निर्मित तनु माया गुन गो पार ॥


******************************************************************************

त्रिभुवन जननायक मर्यादा पुरुषोतम अखिल ब्रह्मांड चूडामणि श्री राघवेन्द्र सरकार
के जन्मदिन की हार्दिक बधाई हो !!

24 comments:

  1. सर्वजगत हित में मर्यादाओं को स्थापित करनेवाले, त्रिलोक जननायक मर्यादा पुरुषोतम राम के जन्मदिन की हार्दिक बधाई !!

    ReplyDelete
  2. वेदों में जो आदर्श था ,उसी को राम ने अपनाया था
    परन्तु गड़बड़ यही है हम राम को अपना रहे है और वेदों से दूर होकर
    कहाबियो और अतिश्योक्ति में सिमट गए है
    राम जैसा बनना है तो वेदों की तरफ लौटो...
    मर्यादा पुरुषोतम राम के जन्मदिन की हार्दिक बधाई !!

    ReplyDelete
  3. मन हरषाऊ पोस्ट।

    सबको शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  4. राम जन्म के इस छंद को 'त्रिभंगी' छंद कहते हैं. यह लाक्षणिक जाति का छंद है.
    इसका सूत्र है : "बत्तीस कल संगी, बने त्रिभंगी, दश-अष्ट अष्ट षट गा-अन्ता"
    परिभाषा : जिस छंद के प्रत्येक चरण में ३२ मात्राएँ हों, १०, ८, ८ और ६ पर यति हो तथा अंत में गुरु हो, उसे 'त्रिभंगी' छंद' कहते हैं.
    उदाहरण ऊपर दिया ही गया है. अधिक विस्तार 'दर्शन प्राशन' पाठशाला की आगामी कक्षाओं में किया जाएगा.

    ReplyDelete
  5. अमित जी ..
    आपको भी मर्यादा पुरषोत्तम भगवान् श्री राम के जन्मदिन की कोटि -कोटि शुभकामनाएँ!

    ReplyDelete
  6. आपको रामनवमी की हार्दिक शुभकामनाएँ!
    विवेक जैन vivj2000.blogspot.com

    ReplyDelete
  7. बहुत सुंदर पोस्ट!! बधाई भाई अमित जी ..
    आपको भी मर्यादा पुरषोत्तम भगवान् श्री राम के जन्मदिन की कोटि -कोटि शुभकामनाएँ!

    ReplyDelete
  8. बहुत बहुत बधाई हो आपको भी।

    ReplyDelete
  9. जय हो! सभी को हार्दिक बधाई!

    ReplyDelete
  10. आप को भी श्री राम जी के जनम दिवस की ढेर सारी शुभ कामनाये. इसी प्रकार अपने सुन्दर लेखो द्वारा हम सभी को संदेस देते रहे धन्यावाद..|

    ReplyDelete
  11. आप को भी हार्दिक बधाई, प्रिय अमित जी!
    -अरुण मिश्र.

    ReplyDelete
  12. रामनवमी की आपको भी हार्दिक बधाई.देर से पढ़ पाया,क्षमा चाहता हूँ.

    ReplyDelete
  13. आपको एवं आपके परिवार को भगवान हनुमान जयंती की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ।

    अंत में :-

    श्री राम जय राम जय राम

    हारे राम हारे राम हारे राम

    हनुमान जी की तरह जप्ते जाओ

    अपनी सारी समस्या दूर करते जाओ

    !! शुभ हनुमान जयंती !!

    आप भी सादर आमंत्रित हैं,

    भगवान हनुमान जयंती पर आपको हार्दिक शुभकामनाएँ

    ReplyDelete
  14. kafi der se ane ke liye bandhu kshma karenge.....

    ram-navmi ki badhai.....

    udhar kaksha me 'guruji' apne priya kshatra ko...
    dhoondh rahe hain....aa jayiega....nahi to 'hethi'
    hogi 'monitar' bhai ki.....

    sadar.

    ReplyDelete
  15. आज गुड फ्राई डे क अवसर पर हार्दिक शुभकामनाएं आपको !!

    ReplyDelete
  16. सब कुछ राम मय लगता है इसे गा कर ! आपको शुभकामनायें अमित !

    ReplyDelete
  17. अति सुन्दर

    {--हिन्दुत्व की रक्षा के लिये और देश मे हिन्दुओ के खिलाफ हो रहे भयंकर षडयंत्र को सामने लाने के लिये हिन्दुओ द्वारा बनाये गये साझा ब्लाग पर आप पधारे.
    जिसका पता है.
    vishvguru.blogspot.com

    ReplyDelete
  18. आप को भी हार्दिक बधाई|

    ReplyDelete
  19. अमित भाई ,
    बहुत दिन हो गए , व्यस्त हैं क्या ?? समय मिले तो एक लेख अवश्य लिखियेगा , हमें इतंजार रहता है आपके लेख का

    ReplyDelete
  20. श्री राम जय राम जय जय राम !
    श्री राम जय राम जय जय राम !!



    कहां छुपे हो राजाराम मेरे राम ?!
    :)
    अमितजी

    आशा है , सपरिवार स्वस्थ-सानन्द हैं रामजी की कृपा से …
    आपकी प्रतीक्षा है , शीघ्र लौट कर आइएगा …
    हार्दिक शुभकामनाएं !

    - राजेन्द्र स्वर्णकार

    ReplyDelete
  21. http://kkyadav.blogspot.com/2011/06/blog-post_17.html

    ReplyDelete
  22. बहुत दिलचस्प ||

    आपको शुभकामनायें अमित

    ReplyDelete
  23. अब तो आप भी प्रगट होइए …


    हार्दिक शुभकामनाओं सहित

    - राजेन्द्र स्वर्णकार

    ReplyDelete
  24. पोस्ट पढ़ तो ली ......देखनी बाकी है :) ढेर सारी शुभकामनाएं :)

    ReplyDelete

जब आपके विचार जानने के लिए टिपण्णी बॉक्स रखा है, तो मैं कौन होता हूँ आपको रोकने और आपके लिखे को मिटाने वाला !!!!! ................ खूब जी भर कर पोस्टों से सहमती,असहमति टिपियायिये :)